हीरो की कहानियां (पोबित्रा घोष)

मैंने स्वयं से वादा किया है कि जीवन के अंतिम सांस तक लोगों के जीवन में ज्ञान का प्रकाश एवं विकास लाने के लिए कार्य करूंगा।

     जब उनके गांव के सभी बच्चेखिलौने के साथ खेलते थे, तो पोवित्रा घोष अपनी मां की प्रार्थना की घंटी चुपके से बाहर लाकर प्रार्थना से जुड़ी प्रक्रियाओं की नकल किया करते थे। पोवित्रा एक गर्वपूर्ण मुस्कुराहट के साथ कहते हैं कि ‘अाध्यात्मिकता एवं समाज के लिए कार्य का भाव मेरी रगों में छोटी उम्र में ही बहने लगा था।’ शुरू से ही वह सेवा कार्यों में लगे रहते थे। वर्षों पश्चात एक सक्रिय काॅलेज छात्र के रूप में समाजसेवा के लिए रास्ते खोजते-खोजते उन्होंने रेडक्रास सोसाइटी आॅफ इंडिया, एनएसएस, एनसीसी एवं राष्ट्रीय साक्षरता मिशन के माध्यम से सेवा गतिविधियों में भाग लिया।

पश्चिमी बंगाल के गांव में सम्पूर्ण परिवर्तन एवं स्थायी विकास लाने की खोज ने उन्हें आर्ट आॅफ लिविंग तक पहुंचा दिया। सुदर्शन क्रिया के लाभों का अनुभव करने के बाद उन्होंने वाईएलटीपी प्रोग्राम किया। वहीं से उनके सपनों को एक नया मिशन प्राप्त हुआ। उन्होंने पश्चिम बंगाल के प्रत्येक गांव के प्रत्येक घर में शांति, ज्ञान एवं विकास का प्रकाश लाने की प्रतिज्ञा की। तब से लेकर इन्हें इस सेवा यात्रा में कोई रोक नहीं सका है। पिछले एक दशक से अधिक समय से अथक रूप से यात्रा करते हुए वह पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद, पूर्वी मेदनीपुर, मालदा, नादिया, बीरभूम, 24 परगना और झाड़ग्राम के लोगों तक पहुंचे हैं। हैप्पीनेस प्रोग्राम, वाईएलटीपी, श्री श्री योग, सहज समाधि ध्यान, स्वयंसेवक प्रशिक्षण प्रोग्राम, योग के लिए आरपीएल प्रशिक्षण सहित 300 से अधिक कार्यशालाओं का आयोजन उन्होंने किया है।

आर्ट आॅफ लिविंग के प्रोजेक्ट भारत प्रोग्राम के चलते पोवित्रा ने अनेक पोवित्रा घोष तैयार किए हैं। मुर्शिदाबाद के 26 ब्लाॅकों में सेवा योद्धा बनाने के साथ-साथ इस क्षेत्र में श्री श्री ज्ञानमंदिर की स्थापना में सक्रिय रूप से जुटे रहे। पाेवित्रा चुनौतियों पर भी विचलित नहीं हुए। ग्रामीण युवाओं के बीच शराब एवं नशीले पदार्थों की लत छुड़ाने के लिए निरंतर कार्य करते रहे। उन्होंने अपने जैसे अन्य नेता बनाए, जो इस कार्य को और बुलंदी पर ले जा रहे हैं। उनके जैसे नेता इस बदलाव को सतत बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अपनी कार्यशालाओं एवं अन्य सामाजिक कार्यों के माध्यम से अनेक युवाओं के लिए नौकरी के अवसर भी उन्होंने मुहैया करवाए हैं। एक शक्तिशाली विकसित देश का सपना अपनी राह पर है।